मेरे राजदार समर्थक मित्र बनने का शुक्रिया

मेरी रचनाएं

बुधवार, 14 सितंबर 2011

"हिंदी-दिवस" की शुभकामनाएं...



आप सभी ब्लागर मित्रों को नीलकमल वैष्णव का 
सादर साहित्याभिवादन.....
आप सभी के स्नेह और सहयोग का मैं बहुत बहुत 
धन्यवाद देता हूँ आज हिंदी दिवस के इस शुभ दिन 
पर मैंने आप मित्रों के सहयोग से अर्धशतकीय पारी
(अनुसरणकर्ता की) पूरी कर ली है 
जिसका सारा श्रेय मैं सिर्फ और सिर्फ आप सभी ब्लागर 
साथियों को दूंगा जो मुझे अनुसरण करके मुझे इस मुकाम 
तक पहुँचाया. 
और आज के इस पावन अवसर "हिंदी-दिवस" पर आप सभी को अनेकानेक बधाईयाँ...
आज हम यह संकल्प करते हैं की हम सदैव अपने मातृ-भाषा 
मान सम्मान बनाये रखेंगे...... 


नीलकमल वैष्णव "अनिश"

2 टिप्पणियाँ:

Acupressureindia ने कहा…

हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

S.N SHUKLA ने कहा…

Neelkamal ji
sundar prastuti ke liye badhai sweekaren.
मेरी १०० वीं पोस्ट , पर आप सादर आमंत्रित हैं

**************

ब्लॉग पर यह मेरी १००वीं प्रविष्टि है / अच्छा या बुरा , पहला शतक ! आपकी टिप्पणियों ने मेरा लगातार मार्गदर्शन तथा उत्साहवर्धन किया है /अपनी अब तक की " काव्य यात्रा " पर आपसे बेबाक प्रतिक्रिया की अपेक्षा करता हूँ / यदि मेरे प्रयास में कोई त्रुटियाँ हैं,तो उनसे भी अवश्य अवगत कराएं , आपका हर फैसला शिरोधार्य होगा . साभार - एस . एन . शुक्ल

एक टिप्पणी भेजें

आप अपने बहुमूल्य शब्दों से इसको और सुसज्जित करें
धन्यवाद